Email Subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Google ने लाॅन्च किया Bolo ऐप: बच्चे घर बैठे कर सकेंगे पढ़ाई, ऐसे करें यूज



 गूगल ने एक अच्छी शुरुआत की है, जिसकी मदद से बच्चे घर बैठे पढ़ाई कर सकेंगे। इसके लिए गूगल ने मोबाइल ऐप Bolo लॉन्च किया है। इस एप की मदद से स्कूल न जा पाने वाले बच्चे घर ही बेसिक स्कूलिंग कर सकेंगे। यह ऐप खासतौर से ग्रामीण इलाकों में रहने वाले बच्चों को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है। इससे बच्चे घर बैठे ही स्कूल जैसी पढ़ाई कर सकेंगे। फिलहाल यह ऐप सिर्फ हिंदी और अंग्रेजी भाषा में उपलब्ध है। जल्द ही इसमें अन्य क्षेत्रीय भाषाओं को भी शामिल किया जाएगा। दुनियाभर में इसे सबसे पहले भारत में लॉन्च किया गया है।



Diva करेगी पढ़ने में मदद
इस ऐप में Diya नाम का असिस्टेंट प्रोग्राम दिया गया है, जो बच्चों को पढ़ने और स्किल्स सीखने में मदद करेगा। Diya हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में बात करेगी और जब बच्चे हिंदी या अंग्रेजी पढ़ने की कोशिश करेंगे तो उन्हें प्रोत्साहित करेगी। जैसे अगर बच्चे ने किसी शब्द को सही पढ़ा है तो दिया कहेगी 'शाबाश’। हालांकि दिया बच्चों को शब्दों के मतलब नहीं बताएगी, लेकिन एक वाक्य में आने वाले सभी शब्दों का उच्चारण करके बताएगी।



900 बच्चों पर हुआ था परीक्षण
इस ऐप को लॉन्च करने से पहले गूगल ने एक पायलट प्रोजेक्ट चलाया था जिसमें उत्तर प्रदेश के 200 गांवों के 900 बच्चों पर इस ऐप का परीक्षण किया गया था। Annual Status of Education Report 2018 के मुताबिक ग्रामीण भारत में कक्षा 5 में पढ़ने वाले सभी छात्रों में से सिर्फ आधे ही कक्षा 2 की किताबों को आत्मविश्वास के साथ पढ़ पाते हैं। Google ने Bolo ऐप इसी गैप को कम करने के लिए लॉन्च किया है।                                                                                                                                                                                                            बिना इंटरनेट के भी चलेगा ऐप
गूगल ने इस ऐप के लिए Storyweaver.org.in से पार्टनरशिप की है। इसमें 50 कहानियां हिंदी की और 40 अंग्रेजी की हैं। यह ऐप बिना इंटरनेट कनेक्शन के भी काम करेगा। कंपनी का कहना है कि ऐप में जल्द ही और भी कंटेंट जोड़ा जाएगा। इसकी खास बात यह है कि एक ही ऐप को कई बच्चे इस्तेमाल कर सकेंगे और अलग-अलग अपनी प्रोगेस को ट्रैक कर सकेंगे। इस ऐप के लिए गूगल Pratham Education Foundation, Room to Read, Saajha और Kaivalya Education Foundation जैसी चार गैर सरकारी संस्थाओं के साथ मिलकर काम कर रहा है।
                                                                                                                                                                         नहीं पड़गी साइन-इन करने की जरूरत
Google के मुताबिक इस ऐप का इस्तेमाल करने के लिए यूजर को किसी भी तरह की जानकारी डालने की जरूरत नहीं है। साइन-इन करने के लिए नाम, उम्र, लिंग यहां तक कि Gmail अकाउंट की भी जरूरत नहीं पड़ेगी। यह ऐप एड-फ्री भी होगी। किसी भी तरह का पर्सनल डाआ ऐप में ही रहेगा। यह Android 4.4 (Kit Kat) और उससे आगे के सभी एंड्रॉयड वर्जन पर काम करेगा                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                           

                                                                                                                     by GAURAV SINGH RAJPOOT

SHARE

Milan Tomic

Hi. I’m Designer of Blog Magic. I’m CEO/Founder of ThemeXpose. I’m Creative Art Director, Web Designer, UI/UX Designer, Interaction Designer, Industrial Designer, Web Developer, Business Enthusiast, StartUp Enthusiast, Speaker, Writer and Photographer. Inspired to make things looks better.

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment